तनाव सिरदर्द के लक्षण

सिरदर्द

https://hi.m.wikipedia.org/wiki/%E0%A4%B8%E0%A4%BF%E0%A4%B0%E0%A4%A6%E0%A4%B0%E0%A5%8D%E0%A4%A6
सिरदर्द

सिरदर्द का कारण क्या है?


सिरदर्द एक ऐसी समस्या है जो हमारे माथे और पीठ के ऊपर गर्दन में भी होता है जिससे हमें बहुत ज्यादा तकलीफ होता है सिरदर्द होने के ऐसे बहुत से कारण होते है जैसे जायदा चिंता करना दिमाग का रोग होना फोड़ा फूंशी होना दांतो का रोग होना शरीर में कमजोरी होना गले का रोग होना बिशेली गैस , बंद कमरे का वातावरण से , मोटर गैस से , ईथर, चलोरोफॉम , अफिम , तंबाकू , शराब का शेवन , मूत्र में रक्त आना , मधुमेह होना , मलेरिया , टाइफड़ , दिल रोग , गुर्दे का रोग होना ,मिर्गी , माथे पर ज्यादा दबाव , जायदा शोर होना , लंबित यात्रा करना , नींद पूरी ना लेना , मोबाइल या कंप्यूटर में जायदा देर तक काम करने से , तेज वाली वस्तु या बासी भोजन खाने से भी सिरदर्द हो सकती है तथा तेज रोशनी ओर तेज आवाज से भी सिरदर्द हो सकता है अगर आपको सिरदर्द हो रहा है या सिरदर्द होता है और सिरदर्द से बहुत परेशान रहते है तो इसे पूरा पढ़े और प्रयोग करे इससे आपका सिरदर्द असानी से ठीक हो जायेगा


माईग्रेन होता क्या है 


यह ज्यादातर हमारे सिर के किसी भी आधे भाग में ही दर्द होता है और जब दर्द होती है तो इससे हमें उल्टी करने जैसी लगती है या फिर उल्टी होती है


सिर दर्द कितने प्रकार के होते हैं?


सिरदर्द तीन प्रकार के होते है
  1. Physical
  2. chemical 
  3. otomycosis disease
  1. Physical
जब कोई भी संक्रमण दिमागी बुखार , ब्लडप्रेशर ,ब्रेन ट्यूमर ,आँखों का कामजोर होना या किसी भी बीमारी के लिए अगर आप दवाई खा रहे  तो यह सब दवाई के दुष्प्रभाव के कारण सिरदर्द हो सकता है या कोई भी वस्तु का elergy से भि सिरदर्द हो सकता है


2.chemical


chemical
chemical


हमारे दिमाग मे मौजूद serotonin chemical शरीर की कार्य को सही बनाने के लिए जरूरी होता है अगर इसमे  कोई भी गडबडी हो जाती है तब हमारे दिमाग मे रक्त प्रभाव करने वाली नसों मे सिकुड़न आना शुरू हो जाता है जिससे दिमाग का प्रेशर बढ़ता है और सिरदर्द होने लगता है


3.otomycosis disease

किडनी या लिवर संबंधित बीमारिया जब होती है या हमारी रोग प्रतिरोध छमता अन्द्रोणी अंगों पर हमला करके रोग बनाने लगे तो इससे दिमाग के नसों मे नुकसान पहुँचने का खतरा बढ़ जाता है या दिमाग के नसों मे सूजन या कोई तनाव बढ़ जाता है जिससे सिरदर्द होने लगता हैं 


सिर दर्द कैसे दूर करे?


  • 8 घंटे की पूरी नींद ले।  
सिरदर्द बार बार ना हो इसके लिए आपको 8 घंटे का भरपूर नींद लेनी होगी जिससे कि हमेशा fresh महशूस करे अगर आप 8 घंटे की नींद पूरी नहीं करते है तो इससे भी आपको सिरदर्द की काफी बड़ी समस्या हो सकती है



  • Tension ना ले

कोई भी बात हो एक ही बात को ले कर  बार बार ना सोचे इससे भी आपको काफी बड़ी सिरदर्द की समस्या हो सकती है इसलिए हमेशा कम सोचे और खुश रहे


  • Exercise करे

अगर आपको ज्यादा या बार बार सिरदर्द की समस्या होता है तो आप कुछ योग कर सकते है जिससे कि आप हमेशा स्वास्थ्य रहे


  • स्मोकिंग करना छोड़े

अगर आपको सीरियस सिरदर्द है तो आप शराब , तंबाकू तथा कोई भी खराब आदत हो उससे बचें या हमेशा के लिए छोड़ दे 


  • मोबाइल या कॉम्प्यूटर 


मोबाइल और कम्प्यूटर का इस्तेमाल थोड़ा कम कर ज्यादा देर तक मोबाइल चलाते ना रहे इससे भी आपका सिरदर्द की समश्या बढ सकती है जब भी मोबाइल का इस्तेमाल करे तो ब्राइटनेस को कम करके तथा मोबाइल को 17 इंच से ज्यादा रखे इससे आपकी आंखें पर भी प्रभाव कम पड़ेगी ओर आँखे सुरक्षित रहेंगी


सिर दर्द दूर करने के लिए कुछ योग 
  1. सात प्राणायाम
  2. सात सूक्ष्मयोग
  3. सात आसन करे ओर कर सके तो सर्वांगासन भी करे

सिरदर्द दूर करने के कुछ तरीके
सिरदर्द दूर करने के कुछ तरीके
सिरदर्द दूर करने के कुछ तरीके


  • सबसे पहले आप सीधे मुद्रा में बैठ जाय और बैठ के दोनों हाथों के ring finger के top जगह को अँगूठे से बार बार दबाय लगभग 10 से 15 मिनट दबाय उसके बाद आपके सिरदर्द , माईग्रेन ठीक हो जायेगा

  • इसी प्रकार पैर के अंगुलियों के बार बार दबाय और रिजल्ट देखें

  • माथा में आंखों के ऊपर बाये ओर दाएं दोनों तरफ थोड़ा गढ़े वके तरह होते है उसे भी हाथों के दोनों अंगूठे से बार बार ओर धीरे धीरे दबाय इससे आपका सिरदर्द ठीक हो जायेगा

  • हमारे माथे के पीछे कानों के थोड़ा ऊपर बाये ओर दाये दोनों तरफ थोड़ा गढ़ा होते है उसे भी धीरे धीरे ओर बार बार दबाय इससे आपको बहुत ही जल्द आराम मिलेगा

सिर दर्द में क्या खाएं?

अगर आपको बहुत ज़्यादा माइग्रेन के दर्द से या सिरदर्द में दर्द है तो आप दिव्य medha vati का प्रयोग कर सकते है इसे खाने के लिए गाय के दूध के साथ दो दो गोली सुबह शाम खा सकते है यह एक आयुवेर्दिक दवा है इसका दुष्परिणाम नही होगा इसे किसी भी नजदीकी आयुर्वेदिक दुकान से खरीद सकते है


सिरदर्द का घरेलू उपचार
सिरदर्द का घरेलू उपचार
सिरदर्द का घरेलू उपचार

  • नारियल और मिश्री
सूखा हुवा नारियल और मिश्री दोनों को मिक्सर मे पीस ले ओर इसका चूर्ण बना ले चूर्ण बना के इसे किसी जार या बर्तन मे भर के रख ले अब जब भी आपका सिरदर्द होने लगे तो उस डब्बे खो खोले ओर उसमे से दो चमच्च निकाल के नार्मल पानी के साथ इसे मिला के पी ले इससे आपका सिरदर्द एकदम से ठीक हो जाएगा


  • प्याज का रस
जब भी आपक सिरदर्द हो तो आप घर मे मौजूद प्याज को पीस के उसका रस निकाल ले और पैरों के नीचे तलुओं पर इसे लगाए और इसे थोड़ी देर मले इससे आपका सिरदर्द ठीक हो जाएगा ओ भी बहुत आसानी से 


  • चंदन का चूर्ण
चंदन के चूर्ण को लेप बना के इसे अपने माथा ओर कानो के पीछे लगाए इससे भी आपका सिरदर्द असानी से ठीक हो जायेगा



  • घी का प्रयोग

गाय कि घी को रात को सोने समय दो बूंद नाक में डाल के सोय जाए इससे आपके सिरदर्द में राहत मिलेंगी 



  • गाय का दूध

एक गिलास गाय के दूध में एक चुटकी हल्दी डाल के इस  घोल को छान के पी जाय इससे भी आपको सिरदर्द से काफी अराम मिलेगी

  • अशवगंधा पाउड़र

अश्वगंध का पाउडर या अशवगंधा का कैप्सूल गाय के दूध के साथ ले इससे आपको सिरदर्द की समश्या से छुटकारा मिल जाएगा या मुन्नका को भी सकते  है



Previous
Next Post »

Jayda Jankari ke lie comment kare ConversionConversion EmoticonEmoticon