बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए

बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए – कई सारे ऐसे husband wife हैं। जो बच्चे पैदा करने का प्लानिंग बनाते हैं। जिसके कारण यह जानना चाहते हैं। कि कितनी बार सेक्स करने से गर्भधारण की संभावना हो सकती है

या किस समय सेक्स करने से गर्भधारण की संभावना बढ़ सकती है। यदि आप इन सभी सवालों का सही जवाब जानना चाहते हैं। तो इसे पूरा जरूर पढ़ें। इसमें आपको आपके सवाल का जवाब जरूर मिलेगा।

बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए

बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए

बच्चे पैदा करना उन लोगों के लिए आसान हो जाते हैं। जो रोजाना यह हर दूसरे दिन सेक्स करते हैं। लेकिन यदि आप रोजाना या हर दूसरे दिन सेक्स नहीं कर पाते हैं। तो निम्नलिखित उपायों को अपनाकर सेक्स कर सकते हैं।

कई सारे डॉक्टर कहते हैं। कि एक औरत को गर्भधारण करने के लिए हर महीने 1 सप्ताह खास होता है। जिसमें संभोग करने से गर्भधारण की संभावना बढ़ जाती हैं। ओवुलेशन के 5 दिन पहले और ओवुलेशन के दिन सेक्स करने से गर्भधारण की संभावना काफी अधिक हो जाती हैं।

ओवुलेशन क्या हैं

महिला के अंडाशय से परिपक्व अंडा बाहर निकलने की प्रक्रिया को ओवुलेशन कहते हैं। यह ओवुलेशन प्रत्येक महीने होती है। इस दौरान सेक्स करने से गर्भधारण की संभावना काफी अधिक होती है।

महिलाओं के पीरियड साइकिल 28 से 30 दिन का होता है। जो नॉर्मल पीरियड होता है। और ऐसे में थियोरेटिकली 14वे या 15वे दिन में ओवुलेशन हो सकता हैं। जो कि थियोरेटिकली हैं। लेकिन ओवुलेशन इसके कुछ दिन पीछे या कुछ दिन आगे भी हो सकता है। इसलिए ओवुलेशन कि कुछ दिन पहले और कुछ दिन बाद तक सेक्स जरूर करें। जिसमें काफी अधिक संभावना हो जाती है। कि आप गर्भधारण कर लें।

और हर महिला की पीरियड साइकिल अलग होती है। इसलिए आपका ओवुलेशन का समय अलग हो सकता है। यदि आपको अपने ओवुलेशन के बारे में नहीं पता है। तो पीरियड खत्म होने के बाद सप्ताह में 2 से 3 दिन नियमित रूप से सेक्स कर सकते हैं। जिसमें भी गर्भधारण की संभावना काफी अधिक हो जाती हैं।

ओवुलेशन होने के लक्षण

ओवुलेशन होने पर निम्नलिखित लक्षण नजर आ सकते हैं।

1. सेक्स करने का अधिक मन करना
2. ब्रेस्ट सेंसिटिव होना
3. शरीर का तापमान पहले थोड़ा कम होना फिर अधिक बढ़ना
4. योनि से निकलने वाले म्यूकस का पलता होना
5. योनि में सूजन होना
6. पेट के नीचे की ओर हल्का दर्द या ऐंठन होना
7. LH मैं वृद्धि होना

ओवुलेशन के बाद गर्भधारण के लक्षण

यदि आप ओवुलेशन के समय सेक्स करने से प्रेग्नेंट हो जाती हैं। तो आपको निम्नलिखित लक्षण नजर आ सकते हैं।

1. ब्लड प्रेशर का बढ़ना
2. बार बार पेशाब करना
3. स्वाद बदलना
4. पाचन संबंधी समस्या जैसे पेट फूलना या कब्ज होना
5. जी मिचलाना
6. चक्कर आना
7. हल्की ब्लीडिंग होना
8. मॉर्निंग सिकनेस होना
9. ब्रेस्ट में दर्द या सूजन होना
10. तनाव होना

बच्चे पैदा करने के लिए सेक्स पोजिशन

बच्चे पैदा करने के लिए निम्नलिखित कई पोजीशन है। जिसका प्रयोग करके आप गर्भधारण की संभावना बढ़ा सकते हैं।

1. रिवर्स काउगर्ल सेक्स पोजिशन (Reverse cowgirl sex position)

इस पोजीशन में पुरुष बिस्तर पर सीधे लेटता है और औरत पुरुष के मुँह की ओर पीठ करके लिंग को योनि में डालकर बैठती है और सेक्स करके इसका आनंद लेती है।

2. डॉगी स्टाइल सेक्स पोजीशन (Doggy style Sex position)

प्रेग्नेंट होने के लिए आप इस पोजीशन का प्रयोग कर सकते हैं। इसमें औरत घुटनों के बल बैठकर झुक जाती है और पुरुष पीछे से लिंग योनि में डालकर संभोग करता है। इस पोजीशन से भी काफी ज्यादा प्रेग्नेंट होने की संभावना होती हैं।

3. स्पूनिंग पोजिशन (Spooning position)

इस पोजीशन में दोनों करवट लेकर लेटते हैं और महिला का पीठ इसमें पुरुष के मुंह कि ओर होता है। जिसमें पुरुष पीछे से योनि में डालकर सेक्स करता है। जिससे पुरुष का वीर्य महिला के गर्भाशय में जाने का काफी संभावना होती है।

4. एन्विल सेक्स पोजिशन (Anvil sex position)

इस पोजीशन में महिला के कमर के नीचे तकिया लगा कर सेक्स करना होता है। जिसमें महिला का हिप्स उठा होता है।

5. मिशनरी सेक्स पोजिशन (Missionary sex position)

इस पोजीशन में कई तरह के पोजीशन होते हैं। जिसे भी आप प्रयोग कर सकते हैं।

1. मैन ऑफ टॉप पोजिशन – इसमें महिला पीठ के बल नीचे लेटे होती है और पुरुष ऊपर से सेक्स करता है। यह महिला को प्रेग्नेंट करने के लिए सबसे बेहतर सेक्स पोजिशन माना जाता है।

2. स्नो सेक्स पोजिशन – यह पोजिशन 69 सेक्स पोजिशन की तरह होता है। लेकिन इसमें पुरुष का लिंग महिला के योनि में होता है। और पुरुष का मुंह लड़की के पैरों की तरफ होता है तथा महिला का पैर पुरुष के पीठ के ऊप्पर रखी होती हैं।

3. प्रेटजेल सेक्स पोजिशन – इस पोजीशन में महिला सिधे पीठ के बल लेटी होती है। और पुरुष महिला की टांग उठाकर डारेक्ट योनि में अपना लिंग डालता हैं। जिसमें पुरुष का दोनों पैर का घुटना निचे टिका होता हैं और सेक्स करता है। इस पोजिशन में लिंग योनि के गहराई तक जाता हैं। जिससे महिला के प्रेग्नेंट होने की संभावना बढ़ जाती है।

Read More

स्त्री को जोश कब आता है? | stree ko josh kab aata hai

यह लेख केवल शैक्षिक उद्देश्य के लिए हैं। उम्मीद है। आप लोगों को बच्चे पैदा करने के लिए कितनी बार करना चाहिए। यह लेख जरूर पसंद आया होगा। अगर पसंद आया हो तो इसे अपने पार्टनर के साथ जरूर शेयर करें।

Leave a Comment