तुलसी और बेसिल के पौधे की सम्पूर्ण जानकारी-Holy basil and italian basil in Hindi

About Basil in Hindi:- तो दोस्तों आज हम लोग बात करने वाले हैं बेसिल के पौधे के बारे में की बेसिल का पौधा क्या होता है और साथ ही बेसिल का पौधा और तुलसी का पौधा में क्या अंतर है तथा दोनों के उपयोग फायदे और नुकसान के बारे में जानेंगे

What is basil plant in Hindi | बेसिल का पौधा क्या है

बेसिल का पौधा तुलसी के पौधे की तरह ही होता है लेकिन इसकी पत्तियां तुलसी के पौधे से थोड़ी बड़ी और गाढ़े हरे रंग की होती है और तुलसी के पौधे को holy basil कहते हैं लेकिन इस पौधे को Italian basil और Sweet basil कहते हैं

seeds of italian Basil in Hindi | बेसिल के बीज 

Italian Basil जिसे स्वीट बेसिल और हिंदी में सब्जा भी बोला जाता है इसके बीज तुलसी के बीज से थोड़े बड़े होते हैं और इसकी तासीर ठंडी होती है जो हमारे बॉडी के हिट को रिड्यूस करती है और हमारे दिमाग को शांत रखती है

तुलसी और बेसिल के पौधे मे अंतर-Diffrent between Holy basil and italian Basil in Hindi

Different between Holy Basil and Italian Basil plant in Hindi 

 Holy Basil in Hindi | तुलसी

1. तुलसी एक औषधीय पौधा है जिसकी पत्तियां 1 से 2 इंच लंबी हल्के हरे रंग की सुगंधित अंडाकार और आयताकार होती है ज़िसका उपयोग कई सारे बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है साथ ही इसे हिंदू धर्म में काफी पवित्र माना जाता है जिसके कारण इसे आंगन में लगाया और पूजा जाता है

2. तुलसी के पौधे को कई नामों से जाना जाता है जैसे कि सुलभा, ग्राम्या, पुरसा, बहुमंजरी और holy Basil

3. तुलसी के पत्तियों का स्वाद शार्प और तेज होता है

4. तुलसी का पौधा काफी अधिक तापमान सहन कर सकती है

5. तुलसी का वैज्ञानिक नाम Ocimum tenuiflorum हैं

 Italian Basil in Hindi | बेसिल

1. बेसिल का पौधा तुलसी के पौधा जैसा ही दिखने वाला एक पौधा होता है जिसकी पत्तियां तुलसी के पौधे से थोड़ी बड़ी और गाढ़े हरे रंग की होती है और इसका भी उपयोग कई सारे रोगों को ठीक करने के लिए किया जाता है

2. बेसिल के पौधे को italian basil और sweet basil नामों से जाना जाता है

3. बेसिल के पत्तियों का स्वाद हल्का मीठा होता है

4. और वही बेसिल का पौधा अधिक तापमान सहन नहीं कर पाती हैं जिसके कारण 45°c में ही मुरझाने लगती हैं

5. बेसील का वैज्ञानिक नाम Ocimum basilicum हैं

Nutrition of Italian Basil in Hindi | बेसिल में पाए जाने वाले पोषक तत्व

विटामिन A, विटामिन k, कैरोटीन, कॉपर, आयरन, कैल्शियम, मैग्नीशियम, मैग्नीज, पोटेशियम और कई एंटीएक्सीडेंट इत्यादि होते हैं

बेसिल के पत्तों के फायदे | Benefits of Basil in Hindi

बेसिल के पत्तों में ऐसे कई सारे पोषक तत्व मौजूद होते हैं जिसका उपयोग करके कई सारे फायदे उठा सकते हैं और इसमें कुछ ऐसे गुण मौजूद होते हैं जिससे कई रोगों को ठीक भी किया जा सकता है इसमें एंटीसेप्टिक गुण मौजूद होते हैं जिससे शरीर में लगी चोट में इसके पत्तों को पीसकर लगाने से जख्म को ठीक किया जा सकता है साथ ही अगर मुंह में छाले पड़े हैं तो इसके कुछ पत्तों को चबाने से मुंह के छाले भी ठीक हो जाते हैं सब्जा और बेसिल एक ही पौधे को कहते हैं और अगर आपको इस पौधे की और भी अधिक फायदा उठाना चाहते हैं तो इसके बीजों का उपयोग कर सकते हैं

1. लंबे समय तक जमा रहने के लिए – इस italian Basil में पाये जाने वाले एंटीऑक्सीडेंट हमारे (डीएनए) DNA और सेल Cell को प्रोटेक्ट करती है जिसके वजह से हमारे उम्र बढ़ने की process slow हो जाती है और जिसके कारण है कि लंबे समय तक जवान रहा जा सकता है

2. Stress और depression से छुटकारा पाने के लिए – बेसिल के पत्तों में anti-stress एलिमेंट्स पाए जाते हैं जिसको चबाने से Mind और Body को depression तथा stress से बचा सकते हैं

3. हमारे आंखों के लिए – Italian Basil मैं विटामिन ए पाया जाता है जो हमारी आंखों की रोशनी को बढ़ाने में काफी मदद करता हैं

4. हमारे हड्डियों के लिए – Italian Basil मैं विटामिन K होता है जो हमारे शरीर के हड्डियों को मजबूत बनाता है

5. शरीर में लगी चोट के लिए – बेसिल के पत्तों में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जिसके कारण इसके पेस्ट को चोट में लगाने से काफी लाभ मिलता है

6. पेट में दर्द, गैस और कब्ज दूर करने के लिए – अगर किसी व्यक्ति को पेट में कीड़े, गैस, कब्ज, और पाइल्स की समस्या है तो वह Italian Basil के कुछ पत्तों को चबाकर खा सकता है जो इन समस्याओं से काफी लाभ पहुंचाता है

7. Fever दूर करने के लिए – यदि किसी व्यक्ति को fever की समस्या है तो इसमें भी है यह फायदा पहुंचा सकता है इसके लिए बेसिल के पत्तों और कुछ तुलसी के पत्तों का काढ़ा बनाकर इसका प्रयोग कर सकते हैं

8. त्वचा के लिए – बेसिल हमारी त्वचा के लिए काफी फायदेमंद होता है इसका बीज एग्जिमा और सोरायसिस जैसे रोग को ठीक करता है इसके लिए इसके बीज को पीसकर पाउडर बना कर, दो चम्मच नारियल तेल में पकाकर ठंडा होने के बाद त्वचा के प्रभावित हिस्से में लगाने से काफी लाभ मिलता है

9. बालो के लिए – इसके बीज में प्रोटीन तथा आयरन भरपूर मात्रा में पाये जाते हैं. जिसे खाने से बाल लम्बे-घने, मजबूत, चमकदार, होते और तेजी से बढ़ते हैं.

10. वजन कम करने के लिए – अगर किसी व्यक्ति को अपना वजन कम करना है तो वह इसके बीच को दो चम्मच की मात्रा में लेकर 200ml पानी में भिगो दें और इसका सेवन करें इससे आपको अपना वजन कम करने में काफी मदद मिलेगी

इटालियन बेसिल के नुकसान | side effects of Italian Basil in Hindi

छोटे बच्चे और गर्भवती महिलाओं इसके बीज का सेवन कदापि ना करें इससे आपको कई सारे नुकसान हो सकते हैं

Information of Holy Basil in Hindi | तुलसी की जानकारी 

Name of Tulsi in
हिंदी – तुलसी और वृंदा
संस्कृत – तुलसी, सुरसा और देवदुन्दुभि
मराठी – तुलस
अरबी – दोहश
तेलुगू – गग्गेर चेट्टु

तुलसी के फायदे | Benefits of Holy Basil in Hindi

तुलसी को जीवन के लिए अमृत माना गया है तुलसी में औषधीय पाक और अध्यात्मिक गुण होते हैं जिसके कारण इसे अन्य जड़ी बूटियों से श्रेष्ठ माना गया है तुलसी का अधिकतर उपयोग इसके पत्ते का ही होता है क्योंकि उपयोग की दृष्टि से इसकी पत्तियां ही अधिक गुणकारी होती है तो आए जानते तुलसी के फायदे के बारे में

1. सिर दर्द के लिए – अगर आप अधिक काम करते हैं और काम के टेंशन के चलती आपका सिर दर्द हमेशा बना रहता है तो आप तुलसी के तेल की दो बूंदे अपने नाक में डाल सकते हैं इससे आपका सिर दर्द और सिर से जुड़े कई रोगों से काफी आराम दिलाएगा

2. खांसी के लिए – अगर आपको खांसी की समस्या हुई है तो आप इसके लिए आज तुलसी के पत्त्ते और 5 लोंग को एक कप पानी में डालकर उबालें और 10 मिनट बाद ठंडा होने दें और हल्का ठंडा होने के बाद इसे पी ले

3. सर्दी और जुकाम के लिए – अक्सर ठंड के मौसम में हर किसी को सर्दी व जुकाम हो जाती है जिसके वजह से लोग काफी परेशान रहते हैं लेकिन आपके आसपास तुलसी का पौधा है तो आप अपने सर्दी जुकाम को ठीक कर सकते हैं इसके लिए 10 तुलसी के पत्ते और चार लोंग डालकर एक गिलास पानी में उबालें और उबालने के पश्चात जब आधा कप पानी रह जाए तो इसे हल्का ठंडा होने दें फिर थोड़ा सा सेंधा नमक में डालकर हल्का गर्म गर्म चाय की तरह ही पी ले इससे आपके सर्दी जुकाम की समस्या दूर हो जाएगी

4. मुंह के स्वास्थ्य के लिए – तुलसी में एंटीबैक्टीरियल गुण मौजूद होते हैं जिसके कारण मुंह के बदबू, पायरिया और मसूड़ों से संबंधित कई रोगों को ठीक करने में काफी मदद करती है

5. प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए – अगर आप हमेशा बीमार पड़ते रहते हैं और हमेशा सर्दी खांसी होती रहती है इसके लिए आप तुलसी के कुछ पत्तियों को पानी से धो कर चबाएं और ऊपर से गुनगुना पानी पी ले इसके उपयोग के बाद 1 घंटे तक कुछ ना खाएं अगर आप ऐसा कुछ महीनों तक लगातार करेंगे तो इससे आपकी प्रतिरोधक क्षमता जरूर बढ़ जाएगी जिससे आप तुरंत तुरंत बीमार होने से बचे रहेंगे

6. सिर के जूँ से छुटकारा पाने के लिए – अगर किसी व्यक्ति के सिर में जुएं हो गये हैं और कई यह समस्या ठीक नहीं हो रही है तो बता दे कि बालों में तुलसी का तेल लगा सकते हैं । तुलसी के पौधे से तुलसी की पत्तियां लेकर उससे तेल बनाकर बालों में लगाने से सिर के जूं और लीखें मर जाती हैं

7. त्वचा में निखार लाने के लिए – त्वचा में निखार लाने के लिए त्वचा में तुलसी के पत्तों को पेस्ट की तरह लगा सकते हैं या फिर इसे कच्चा भी खा सकते है इसके पत्ते रक्त की अशुद्धियो को दूर करती हैं तथा त्वचा के मुंहासे, संक्रमण और दाग को भी कम करती हैं

8. हृदय के स्वस्थ के लिए – बता दे कि तुलसी में कार्डियोप्रोटेक्टिव गुण होते हैं। जो दिल को स्वस्थ रख कर , हृदय रोग को दूर रखने में सहायक होती हैं। वहीं, स्ट्रेस के कारण होने वाले हृदय रोग से बचाने में भी तुलसी सहायक हो सकती है

9. बुखार से ठीक करने के लिए – तुलसी के 7 से 8 पत्ते तथा 5 लौंग लेकर टुकड़े-टुकड़े करके एक गिलास पानी में पकाएं | जब पककर जब आधा शेष रह जाय, तब थोड़ा सा सेंधानमक डालकर गर्म-गर्म ही पी जाय। यह काढ़ा पीकर कुछ समय के लिए कम्बल या रजाई ओढ़कर सो जाये जब पसीना पूरी निकल जाये तो कम्बल या रजाई हटा ले । इससे बुखार तुरन्त उतर जाता है और इससे जुडी सर्दी, जुकाम व खांसी भी ठीक हो जाती है। इस काढ़े को दिन में दो बार दो तीन दिन तक ले सकते हैं |

10. मासिक धर्म की अनियमितता और कमजोरी दूर करने के लिए – मासिक धर्म की अनियमितता का कारण होता हैं शरीर में वात दोष के बढ़ जाना यानी वात दोष के बढ़ जाने से मासिक धर्म की अनियमितता हो जाती है जिसे दूर करने के लिए तुलसी के बीज का प्रयोग कर सकते हैं क्योंकि तुलसी के बीज में वात को नियंत्रित करने का गुण मौजूद होता है इसलिए इसका प्रयोग मासिक धर्म की अनियमितता में किया जा सकता है इसके अलावा यह मासिक धर्म होने के दौरान जो कमजोरी महसूस होती है उसे भी यह दूर करने में काफी सहायक होती है

तुलसी का उपयोग | uses of Holy Basil in Hindi 

1. तुलसी के पत्तियों को धो कर रोज सुबह खाली को चबाया जा सकता है

2. तुलसी के ताजे पत्तों को काटकर सलाद में मिक्स कर करके भी खाया जा सकता हैं

3. जूस या मॉकटेल में भी तुलसी के कुछ पत्तों को डाल कर सेवन किया जा सकता हैं

4. तुलसी के पत्तों को हर्बल चाय के रूप में उपयोग किया जाता हैं

5. टमाटर की चटनी, फ्लेवर दही या मीट की ग्रेवी जैसे भोजन में सुगंध और स्वाद बढ़ाने के लिए आप उसमें तुलसी के पत्तों को काटकर डाल भी सकते हैं इसमें सुगंध और स्वाद तो बढ़ेंगे ही इसके अलावा कई जरुरी पोषक तत्व भी मिलेंगे

तुलसी के नुकसान | Side effects of Holy Basil in Hindi

वैसे तो हम सभी तुलसी का सेवन करते हैं लेकिन कुछ खास नुकसान आज तक देखा नहीं गया है लेकिन अगर आप तुलसी के फायदे के बारे में पढ़ चूके हैं तो आपको इसके कुछ नुकसान के बारे में जरूर जानना चाहिए

1. वैसे व्यक्ति जो मधुमेह की दवा खा रहे हैं वह तुलसी का सेवन ना करें क्योंकि इससे रक्त शर्करा का स्तर जरूरत से काफी अधिक कम हो सकता है

2. तुलसी को खाली पेट अधिक मात्र में सेवन ना करें क्योंकि इससे उल्टी और पेट दर्द की समस्या शुरू हो सकती है

Read More

What is Ragi in Hindi 

Leave a Comment