What is mint leaf in Hindi | पुदीना क्या है?

About mint leaf in Hindi:- पुदीना यह मुख्य आहार तो नहीं है लेकिन इसे अक्सर लोग खाने के साथ खाने का स्वाद बढ़ाने के लिए चटपटा चटनी के रूप में खाते हैं तो आज हम इस पोस्ट में इसी mint यानी पुदीना के फायदे, उपयोग और नुकसान के बारे में जानेगे तो चलिए शुरू करते हैं

पुदीना क्या है? (What is mint leaf in Hindi?)

Mint जिसे हम हिंदी में पुदीना के नाम से जानते हैं यह एक सुगंधित जड़ी बूटी है जिसे अक्सर लोग अपने बाग और बगिचो में लगाते हैं इस पौधे की पत्तियाँ गहरे हरे और भूरे-हरे से लेकर बैंगनी, नीले और कभी-कभी हल्के पीले रंग के भी होते हैं इसकी तरह तरह के कई प्रजातियां हैं जो यूरोप,ऑस्ट्रेलिया , एशिया, अफ्रीका और अमेरिका मे पाइ जाती हैं

वानास्पतिक नाम  – मेन्था स्पाइकेटा

कुल – Lamiaceae (लेमिएसी)

Other names of mint leaf in Hindi | पुदीना के अन्य नाम

Hindi – पहाड़ी पुदीना, पुदीना

English – गॉर्डेन मिंट (Garden mint), लैंब मिंट (Lamb mint), Spear mint (स्पिअर मिंट)

Sanskrit – पूतिहा, रोचिनी, पोदीनक

Gujarati – फूदीनो

Telugu – पुदीना

Tamil – पुदीना

Bengali – पुदीना

Nepali – बावरी

Punjabi – पहाड़ी पोदीना

Marathi – पुदिना

पुदीने का उपयोग | Uses of mint leaf in Hindi 

1. पुदीने का उपयोग दंत-मंजन, टूथपेस्ट, चुइंगगम्स, माउथ फ्रेशनर, कैंडीज, इन्हेलर आदि में किया जाता है

2. आयुर्वेद में पुदीने को कई रोगों को ठीक करने लिए औषधि के रुप में उपयोग किया जाता हैं

3. पुदीने के पत्तियों अधिकतर स्वादिष्ट चटनी के रूप में सेवन किया जाता हैं

4. पुदीने के पत्तियों इसका रस निकाल कर भी इसका प्रयोग किया जाता हैं

5. पुदीने को चाय के रूप में प्रयोग किया जाता हैं

6. कई रोगों में पुदीने के पत्ते को काढ़ा बनाकर भी प्रयोग किया जाता हैं

7. चेहरों के दाग-हटाने के लिए इसे फेस मास्क के रूप में भी प्रयोग किया जाता हैं

8. सिर दर्द दूर करने के लिए पुदीने के तेल का भी इस्तेमाल किया जाता हैं

9. पोदीना के कच्चे पत्तियों को डायरेक्ट चबाकर भी खाया जा सकता हैं

10. पुदीने का रायता, राइस, चटनी और शरबत भी बनाया जाता हैं

11. पुदीने को चूर्ण के रूप में भी इस्तेमाल किया जा सकता हैं

12. आयुर्वेद में पुदीने के पत्ते और पंचांग सबसे अधिक उपयोग किया जाता हैं

Nutrition of mint leaf in Hindi | पुदीना में पाये जाने वाले पोषक तत्व

पुदीना में कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जैसे कि नियासिन, विटामिन ए, विटामिन सी, सोडियम, कार्बोहाइड्रेट, पोटेशियम, ऊर्जा, आयरन, मैग्नीशियम, प्रोटीन, और कैल्शियम आदि

पुदीना के पत्तों के फायदे | Benefits of mint leaf in Hindi 

1. बिच्छू के डंक मारने पर पुदीना के फायदे – अक्सर यह देखा गया हैं कई लोगो को रात में चलते वक्त बिच्छु काट लेता हैं ज़िसका दर्द और जलन बहुत भयानक होता हैं जिससे राहत पाने के लिए पुदीना का उपयोग कर सकते हैं इसके लिए सूखा पुदीना के पत्तों को पीस लें और जिस जगह पर बिच्छु ने काटा है, वहां लगा दे इससे दर्द कम होता हैं

2. घाव सूखाने में पुदीना के फायदे – अगर किसी व्यक्ति को किसी कारण वश चोट लगी हैं और घाव बन गया हैं और बहुत दुर्गंध आ रही हैं तो आप इस घाव को भरने और घाव का दुर्गंध कम करने लिए आप पुदीना के पत्ते को पीसकर लेप लगा सकते हैं

3. सिरदर्द से राहत पाने में पुदीना के फायदे – अगर माइग्रेन एवं तनाव संबंधित या सिर दर्द से परेशान हैं तो जैतून के तेल या फिर किसी भी तेल में तीन बूँद पुदीने का तेल मिलाएं और अपने गर्दन के पिछले हिस्से और कनपटी पर लगाएं और फिर कुछ देर मसाज करें और इसके तेल को भी सुगं सकते हैं क्योंकि इसकी सुगंध का भी सिर दर्द पर सकारात्मक प्रभाव डालता हैं और इसके अलावा आप पुदीने का चाय भी पी सकते हैं

4. मुंह के छाले की दूर करने में फायदेमंद – अक्सर कई लोगो खाने, गर्म पिने या किसी कारण वश मुंह में छाले हो जाते हैं जो काफी दर्दनाक होता हैं जिसके कारण खाने-पिने से लेकर बोलने में काफी परेशानियां होती हैं जिसे ठीक करने के लिए पुदीने के पत्ते को काढ़ा बनाकर इससे गरारा करे इससे मुंह के छाले की समस्या ठीक होती है।

5. पेट की गड़बड़ी दूर करने में फायदेमंद – अधिकतर लोग गलत खान-पान के कारण पेट में बदहजमी हो जाती है और पेट में दर्द होने लगता हैं जिसे ठीक करने के लिए आप पुदीना के चाय का सेवन कर सकते हैं

6. मासिक धर्म के ऐंठन और दर्द को दूर करने में फायदेमंद – कई महिलाओ को मासिक धर्म में दर्द और ऐंठन होता है जिससे आराम पाने के लिए पुदीना का सेवन सकते हैं, क्योंकि इसमें वातशामक और उष्ण गुण होते है जो दर्द और ऐंठन में राहत पहुँचाते हैं

7. त्वचा रोग में पुदीना के फायदे – कई लोगो को गलत खान-पान या गलत फेस क्रीम प्रयोग करने के कारण त्वचा में मुंहासे या घाव हो जाते हैं और इस मुंहासे के कारण त्वचा पर काले-धब्बे पड़ जाते हैं। इससे छुटकारा पाने के लिए पुदीना के पत्तों को पीस कर । इसे दाग वाले जगह पर लगा सकते हैं इससे काले धब्बे मिटते हैं।

8. उल्टी से राहत पाने में फायदेमंद – अक्सर कई लोगो को एसिडिटी होने पर, या दवा के साइड इफेक्ट के कारण, या फिर किसी अन्य समस्याओ के कारण उल्टी होने लग जाती है। जिसे ठीक करने के लिए आप पुदीने के पत्तों का काढ़ा बना कर इसे 10-20 मिली की मात्रा में पीने से उल्टी की समस्या बन्द हो जाती है।

9. मुंह की बदबू दूर करने में फायदेमंद – अगर किसी भी व्यक्ति के मुँह से अधिक बदबू आती हैं और इसके कारण आप दूसरे से बात करने घबराते हैं और इससे आप परेशान हैं तो इसके लिए आप पुदीना के कुछ पत्तों को चबाये और नियमित रूप से कुछ दिनों तक कुल्ला कर सकते हैं इससे आपके मुँह की बदबू चली जाएगी

10. गर्मियों के मौशम में लू से बचने में फायदेमंद – अगर आप अक्सर गर्मियों के मौशम हमेशा घूमते रहते या किसी कारण से धूप में बाहर निकलना पड़ता हैं और इससे आपको लू लगने का डर बना रहता हैं तो आप इसके लिए भी पुदीने का रस का पी सकते हैं . इससे धूप लगने का खतरा बहुत कम हो जाती हैं

11. बाल झड़ना रोकने में में फायदेमंद – अक्सर कई लोगो को किसी ना किसी कारण वश बाल झड़ने लगते हैं जिसे रोकने और बालो को जड़ो से मजबूत बनाने के लिए आप पुदीना का इस्तेमाल कर सकते हैं बता दे कि पुदीना में कैराटीन और एंटीऑक्सीडेंट भरपूर मात्रा में पाए जाते जो बालो को जड़ो से मजबूत बनाती हैं

12. दांतों के दर्द में पुदीना के फायदे – दांतो कि दर्द कि समस्या आजकल आम बात हो गई हैं ज़िसका मुख्य कारण हैं दांतो को अच्छे साफ-सफाई पर अच्छे ध्यान देना लेकिन अगर आपके दांतो में दर्द हैं तो आप इसमें पुदीना के पत्तों को चूर्ण बनाकर दांतो में मंजन कर सकते इससे दांतो के दर्द कम करने में सहायक मिलती हैं

13. कान के दर्द में फायदेमंद – अक्सर लोगो को कान में पानी जाने से या ठण्ड लगने से कान में दर्द होने लग जाती हैं जिससे आराम पाने के लिए आप पुदीना के पत्तों के 1 से 2 बूँद कान में डाल सकते हैं

पुदीना के नुकसान | Side Effects of mint in Hindi

वैसे तो पुदीना का प्रयोग करना सुरक्षित हैं लेकिन इसे कभी भी अधिक मात्रा में सेवन ना करे

1. जिस व्यक्ति को पित्त पथरी रोग का हो चूका है, उन्हें इस जड़ी बूटी का प्रयोग नहीं करना चाहिए

2. पुदीने को किसी रोग के उपचार से पहले अपने चिकित्सक का सलाह जरूर ले ले

3. अधिक मात्रा में पुदीना सेवन करने से गैस, सूखा मुंह, उलटी आदि समस्या उत्पन्न हो सकती हैं

4. अत्यधिक मात्रा में पुदीना सेवन करने से, यह गुर्दे की विफलता का कारण बन सकता है

5. अत्यधिक सेवन से सेक्स करने की इच्छा में भी कमी हो सकती हैं

Read More

Immunity boosting foods in Hindi

इस पोस्ट में दि गई जानकारी केवल शैक्षिक उद्देश्यों के लिए हैं। यहाँ पर दी गयी जानकारी का उपयोग किसी भी स्वास्थ्य संबंधी समस्या या बीमारी के निदान या उपचार के लिए बिना विशेषज्ञ की सलाह के ना करे

हमें उम्मीद हमारे द्वारा दि हुई mint leaf in Hindi की जनकारी जरूर अच्छी लगी होंगी अगर अच्छी लगी ho तो अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करे

 

Leave a Comment