About sunflower in Hindi | सूरजमुखी फूल के बारे में पूरी जानकारी

About sunflower in Hindi:- सन फ्लावर यानी सूरजमुखी फूल दोस्तों यह नाम से ही पता चलता है कि इस फूल और सूर्य के बीच में कोई कनेक्शन जरूर है जिसकी वजह से इसे सूरजमुखी फूल कहते हैं तो जी हां दोस्तों बता दें कि सूरजमुखी फूल है पूरी तरह अच्छी ग्रोथ पाने के लिए सूर्य पर निर्भर रहती है और सूरजमुखी फूल तब तक खिली रहती है जब तक की सूर्य रोशनी रहती है और इस फूल की खास बात यह है कि जिस दिशा में सूर्य घूमता है उस दिशा में ही यह फूल भी घूमती है और सूरजमुखी इसी विशेषता के कारण इसे सूरजमुखी फूल कहते हैं

 सूरजमुखी के फूल के बारे में जानकारी | Information about Sunflower in Hindi

 सूरजमुखी एक बहुत ही खूबसूरत और आकर्षित करने वाली फूल है या फूल कई रंगों में पाया जाता है लेकिन अधिकतर सूरजमुखी के फूलों का रंग पीला ही होता है और इस सूरजमुखी का फूल बागों में खिलने वाले फूलों में से सबसे बड़ा खिलता है जो लगभग 7 सेंटीमीटर से लेकर 30 सेंटीमीटर तक चौड़े या इससे भी अधिक चौड़े होते हैं और यह फूल की स्वाद कड़वा तथा तासीर ठंडी होती है इस फूल के पीले रंग के पंखुड़ियों के बीच में भूरा, पीत या निलोहित या फिर किसी किसी वर्णसंकर पौधे में काले रंग का चक्र होता है और इसी चक्र में सूरजमुखी के काले चिपटे बीज पाए जाते हैं

 सूरजमुखी के पौधे के बारे में जानकारी | information about sunflower plant in Hindi

सूरजमुखी का पूरा मध्य अमेरिका का निवासी है लेकिन आज जरूर से अमेरिका, ब्रिटेन, मिस्र, डेनमार्क, स्वीडन और भारत आदि देशों में उगाया जाता है सूरजमुखी के पौधे की लंबाई 1 मीटर से लेकर 5 मीटर तक होती है इसके डंठल बड़े नाजुक होते हैं जो हवा के झोंके से टूट भी सकती है और इसके पंक्तियां 7 सेंटीमीटर से लेकर 30 सेंटीमीटर तक लंबी होती है इसके अलावा सूरजमुखी के पौधे 1 वर्षीय और कुछ बहुवर्षी भी होती होते हैं जो अलग-अलग लंबाई के साथ होते हैं

कुल – Asteraceae

 वनस्पति के नाम – Helianthus annuus

 सूरजमुखी का प्रयोग | uses of sunflower in Hindi

1. सूरजमुखी के बीज को इसका तेल बनाने में उपयोग किया जाता है

2. रॉकी के पौधे से हवा शुद्ध होती है

3. सूरजमुखी के बीजों को अंकुरित करके खाया जा सकता है जो कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करने में मदद करती हैं

4. सूरजमुखी के पत्तों का रस, काढ़ा और बीजों को पीसकर लेप बनाकर उपयोग किया जाता है

5. सूरजमुखी के बीजों का तेल खाना पकाने, वाहक तेल, नकली मक्खन, और बायो-डीजल के उत्पादन में भी इस्तेमाल किया जाता है 

6. आयुर्वेद में औषधि के लिए इसके जड़, पत्ते, बीज और फूल का उपयोग किया जाता है

 सूरजमुखी फूल के फायदे | Benefits of sunflower in in Hindi

1. दांत दर्द दूर करने के लिए – अगर आपके दातों में हमेशा दर्द बनी रहती है और आप इस दर्द से परेशान हैं तो आप इस दर्द से छुटकारा पाने के लिए सूरजमुखी के जड़ को निकाल कर पीस लें और दांतों पर रखें और हाथों से मले ऐसा करने से आपका दांत का दर्द ठीक हो जाएगा

2. सिर दर्द के लिए – आजकल कि इस टेक्नोलॉजी वाली समय में घंटों तक मोबाइल या कंप्यूटर पर काम करते हैं जिसकी वजह से सिर में दर्द के समस्या होने लगती है अगर आप भी ऐसी कोई समस्या से गुजर रहे हैं तो आप सूरजमुखी के पत्तों से रस निकालकर इसके रस के साथ इसके बीजों को भी पीस लें और सिर पर लगा लें ऐसा 2 से 3 दिन करने पर आपका सर दर्द ठीक हो जाएगा

3. खुजली की समस्या दूर करने के लिए – अगर आपके शरीर में खुजली की समस्या है तो इसे ठीक करने के लिए आप इस घरेलू उपाय का प्रयोग कर सकते हैं इसके लिए सूरजमुखी के तेल को लेकर इस में कपूर मिलाकर खुजली के प्रभावित हिस्से में लगाये यह चर्म रोग तथा त्वचा रोगों को दूर करने में काफी फायदेमंद होता है

4. वैजाइना के दर्द और जलन से राहत पाने के लिए – अगर किसी बीमारी या किसी कारण वश वैजाइना में जलन या दर्द की समस्या हो रही है तो आप सूरजमुखी के जड़ को चावल के मांड में घिसकर लगाएं इससे दर्द और जलन की समस्या से काफी आराम मिलेगी

5. किडनी स्टोन के लिए – अक्सर लोगों को गलत खानपान की वजह से पथरी की समस्या बन जाती है जिसे निकालने के लिए आप सूरजमुखी के जड़ को पीसकर एक गिलास गाय के दूध में डालकर पी सकते हैं इससे पथरी टूटकर निकलती है 

 सूरजमुखी के नुकसान

सूरजमुखी के बीजों को कभी भी अधिक मात्रा में और बिना डॉक्टर के सलाह के सेवन ना करें

सूरजमुखी का पौधा गमले में कैसे लगाएं

1. सूरजमुखी का पौधा उगाने बहुत ही आसान है इसको उगाने के लिए सबसे पहले इसके बीज खरीद कर लाए

2. अब इसके मिट्टी के लिए वर्मी कंपोस्ट, कोकोपीट और बगीचे की सामान्य मिट्टी इन तीनों को अच्छे से मिक्स करें

3. मिक्स करने के बाद छोटे-छोटे चार से पांच गमले ले और इन सभी गमले में मिक्स किया हुआ मिट्टी को भर दें

4. मिट्टी भरने के बाद इन छोटे-छोटे गमले में एक-एक बीज डाल दे अगर बड़े आकार का हो तो 2 बीज भी डाल सकते हैं

5. बीज डालने के बाद फिर उसी तैयार मिट्टी से इसके ऊपर भुरभुरा कर पतले परत से इन दानों को ढक दें ढकने के बाद इसमें पानी की स्प्रे कर दें

6. अब इन बीजों में अंकुरित आने के लिए लगभग 4 से 5 दिन का समय लग सकता है

7. जब 15 से 20 दिन हो जाए और इस पौधे में अच्छी तरह से ग्रोथ ग्रोथ हो जाए तब इसे आप दूसरे गमले में ट्रांसप्लांट कर सकते हैं

सूरजमुखी के पौधे की देखभाल

1. जब इन बीजों को गमले में लगाएं तो उन गमलों के नीचे छोटे-छोटे छिद्र होना जरूरी है

2. जब गमले में पानी सूख जाए तो समय-समय पर पानी की स्प्रे करते रहें

3. इसे किसी भी प्रकार की पंछी या पशु से बचा के रखे हैं

4. पौधा निकलने के बाद इसे डायरेक्ट धूप में रख सकते हैं इन्हें धूप काफी पसंद होती हैं

Read More

Lily flower in Hindi

सभी फूलों एवं फलों की जानकारी 

दोस्तों हमें उम्मीद है हमारे द्वारा लिखी गई Sunflower in Hindi की यह पोस्ट आपको जरूर पसंद आई होगी अगर पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें

Leave a Comment