Hemp seeds information in Hindi | भांग के पौधे और बीज की जानकारी

About Hemp seeds in Hindi – नमस्ते दोस्तों आज तक आपने कई बीजों के नाम सुने वह देखे होंगे जिन्हें आप सेवन करके कई तरह से फायदा देख लिया होगा लेकिन आज हम इस लेख में एक ऐसी बीज के बारे में जानने वाले हैं जिसे सेवन करने से लोग काफी कतराते हैं डरते हैं क्योंकि वह बीज एक नशीली पदार्थ के रूप में जाना जाता है जिसका नाम है भांग और इसे इंग्लिश में Hemp seeds कहते हैं

अक्सर लोग भांग का पौधा नशीला पदार्थ होने की वजह से इससे दूरी बनाते हैं और इसके औषधीय फायदे के बारे में जानते तक भी नहीं है दोस्तों तो बता दे कि यह एक नशीली पदार्थ होने के साथ एक औषधीय पौधा है जिसके बीज का नियमित रूप से सेवन करने से कई लाभ होते हैं जिसका उपयोग व खेती प्राचीन समय से ही “पणि” कहे जाने वाले लोगों द्वारा किया जाता था भारत में इसका उपयोग कम से कम 2000 ईसापूर्व से होता आ रहा है तो आइए जानते हैं इस इस भांग के बीज और पौधे के बारे में संपूर्ण जानकारी

भांग के पौधे की जानकारी

भांग का पौधे ज्यादातर अपने आप ही उगते हैं और भारत के कई इलाकों में इसकी खेती भी की जाती है जो लंबाई में 3 से 8 फुट के होते हैं इसके पत्ते एकांतर क्रम में व्यवस्थित होते हैं जिनमें इनके ऊपरी पत्तियां 1 से 3 खंडों से युक्त तथा निचली वाली पत्तियां 3 से 8 खंडों से युक्त होती है इन पत्तियों से भांग बनाया जाता है जैसे भगवान भोलेनाथ को चढ़ाया भी जाता है

भांग के पौधे दो प्रकार के होते हैं

1. नर – नर भांग के पत्तों को सुखाकर भांग बनाने में इस्तेमाल किया जाता है

2. मादा – मादा भांग के पौधे के रालीय पुष्प मंजरियों को सुखाकर गांजा बनाने में इस्तेमाल किया जाता है

भांग के बीज की जानकारी | information about Hemp seeds in Hindi

information about Hemp seeds in Hindi

भांग का बीज दिखने में हरे रंग का होता है जो आकार में अलसी के बीज का समान होता है इन बीजों से टीएचसी के छोटे-छोटे रेशे निकलती है जिससे नशा होता है तथा इनके बीजों से तेल भी बनाया जाता है जो हल्के हरे या गाढ़े हरे रंग का होता है

वैसे तो लोग इन बीजों का सेवन करने से कतराते हैं लेकिन बता दें कि इसमें कैल्शियम, आयरन, प्रोटीन, पोटैशियम, मैग्निशियम, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन ई, तांबा, फास्फोरस, फाइबर, मैंगनीज, सल्फर, जिंक, एंटीऑक्सीडेंटस, एंटी-इन्फ्लेमेटरी, ओमेगा 3 फैटी, एसिड, ओमेगा 6 फैटी एसिड आदि कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जिसे नियमित और सुरक्षित मात्रा में सेवन करना हमारे शरीर के लिए काफी लाभदायक होता हैं तो आइए जानते हैं इन बीजों के सेवन करने के फायदे के बारे में

भांग का पौधा कहां पाया जाता है

वही तो भांग का पौधा फ्रांस, स्पेन, कनाडा, दक्षिण कोरिया और चिली मैं कभी अधिक मात्रा में पाया जाता है और भारत की बात करें तो उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल और बिहार आदि में इसका उत्पादन किया जाता है

भांग के बीज के फायदे | Benefits of Hemp seeds in Hindi

1. नींद ना आने की समस्या के लिए

नींद ना आने का यह समस्या तनाव, चिंता जैसी कई कारणों से उत्पन्न होता है जिससे ना जाने कई तरह की बीमारियां भी उत्पन्न होने लगती है

अगर आप में नींद ना आने की ऐसी कोई समस्या है से काफी परेशान है तो आप इस भांग के बीज का प्रयोग कर सकते हैं इस बीज में कई प्रकार के पोषक तत्व जैसे फाइबर, मैग्नीशियम, एंटीऑक्सीडेंट आदि मौजूद होते हैं जो हार्मोन को बदलाव करके नींद ना आने की समस्या, तनाव और चिंता से राहत दिलाती है

2. हड्डियों के मजबूत बनाने के लिए

हमारे शरीर के हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए पोषक तत्वों की काफी जरूरत होती है जिसे ना मिलने पर हमारी हड्डियां कमजोर होने के साथ जोड़ों में दर्द आदि की समस्या भी उत्पन्न होने लग जाती है

ऐसी स्थिति में इस भांग के बीज का सेवन किया जा सकता है यह हड्डियों से जुड़ी कई रोगों को दूर करने की सक्षम रखती है क्योंकि इसमें हड्डियों को पूर्ण रूप से पोषण देने के लिए कैल्शियम, पोटेशियम, प्रोटीन, जिंक आदि कई पोषक तत्व पाए जाते हैं जो हड्डियों के मजबूत करने के साथ बढ़ती उम्र में होने वाले जोड़ों के दर्द की समस्या में भी काफी राहत दिलाती है

3. मस्तिष्क को स्वस्थ रखने के लिए

आजकल के इस भाग दौड़ भरी जिंदगी में मस्तिष्क को स्वस्थ रखना काफी आवश्यक हो चुका है क्योंकि कई बार अधिक कामों के प्रेशर के कारण हमें मानसिक तनाव, चिड़चिड़ापन आदि समस्या पैदा हो जाती है इतना ही नहीं अधिक चिंता के कारण हमारी याददाश्त भी कमजोर होने लग जाती है

ऐसे में भी आप इस भांग के बीज का सेवन कर सकते हैं क्योंकि इसमें डोपामिन होता है जो तनाव को दूर करता है और साथ ही इसमें पाए जाने वाले एंटी एक्सीडेंट और एंटी इन्फ्लेमेटरी गुण मस्तिष्क के विकारों को दूर करने के साथ मस्तिक को स्वस्थ बनाती हैं

4. पाचन तंत्र को करे सुधार

हमारे पाचन तंत्र ठीक ना होने के कारण हमारा खाया हुआ खाना सही से पच नहीं पाता है और इससे कई तरह के बीमारी जैसे – गैस, कब्ज, भूख ना लगना आदि कई बीमारियां उत्पन्न हो जाती है

ऐसे में इस समस्या से राहत पाने और पाचन तंत्र को ठीक करने के लिए भांग के बीज का सेवन हमारे लिए काफी लाभदायक हो सकता है क्योंकि इसमें घुलनशील फाइबर प्रचुर मात्रा में पाया जाता है जो पाचन तंत्र संबंधी सभी तरह की समस्याओं को दूर करने के साथ हमारी पाचन तंत्र को स्वस्थ व मजबूत बनाता हैं

5. मासिक धर्म में पेट दर्द और ऐठन दूर करने के लिए

कुछ ऐसी महिलाएं होती है जिन्हें मासिक धर्म होने पर किसी भी प्रकार का दर्द या ऐठन नहीं होती है लेकिन कुछ ऐसे भी महिलाएं होते हैं जिन्हें मासिक धर्म होने पर काफी अधिक पेट में दर्द और ऐठन की समस्या होने लगती है

जिसे से दूर करने के लिए आप इस भांग के बीज को घरेलू उपचार के तौर पर उपयोग कर सकते हैं इसमें एंटीस्पास्मोडिक गुण होता है जो मासिक धर्म में होने वाली ऐठन से राहत दिला सकता है

6. बालों को सुंदर और चमकदार बनाने के लिए

बालों को सही पोषण ना मिलने पर बालों की ग्रोथ रुक जाती है और बाल झड़ने लग जाते हैं जिससे छुटकारा पाने के लिए इस भांग के बीज का उपयोग कर सकते हैं बता दें कि इसमें विटामिन ई, प्रोटीन और एंटीएक्सीडेंट प्रचुर मात्रा में पाए जाते हैं जो बालों को इन समस्याओं को दूर करने में काफी सहायक होते हैं

7. वजन कम करने के लिए

वैसे तो कई लोग अपना वजन कम करने के लिए कई तरह के फ़ूड का सेवन करते हैं जिनमें कुछ फूड काफी कारगर साबित भी होते हैं इन्हीं फूड़ो में से यह भांग का बीज एक सुपरफूड के रूप में भी जाना जाता है इसका उपयोग से आप वजन कम करने में काफी मदद पा सकते हैं

बता दें कि भांग के बीज में फाइबर पाया जाता है जो अधिक खाने के एहसास को कम कर देता है जिससे हम कम खाना खाते हैं और इस तरह से वजन घटाने में हमें काफी हद तक में सहायता मिलती है

8. मधुमेह के रोगियों के लिए

भांग के बीज के तेल में ओमेगा 3 पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड होता है जो मधुमेह के रोगियों में टाइप 1 डायबिटीज के लक्षणों को कई हद तक काम करने में सहायता करता है

9. कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने के लिए

कोलेस्ट्रोल संतुलित मात्रा में रहना हमारे सेहत के लिए अच्छी बात होती है लेकिन यही अगर अत्यधिक मात्रा में बढ़ जाए तो हमारे शरीर के लिए घातक बन जाता है

और ऐसे भांग के बीज बढ़े हुए हानिकारक कोलेस्ट्रोल को कम करने में काफी सहायक होता है क्योंकि इसमें कई तरह के फैटी एसिड मौजूद होता है जो खराब कोलेस्ट्रॉल को लगभग 20% तक कम कर देता है

भांग के बीज का उपयोग | Uses of Hemp seeds in Hindi

1. भांग के बीजों का उपयोग पीसकर पाउडर बनाकर दही या दलिया के साथ खाने में किया जाता है

2. इन बीजों को पेस्ट बनाकर भी उपयोग किया जाता है

3. भांग के बीजों से चटनी भी बनाया जाता है

4. भांग के बीज से तेल बनाया जाता है जिसका उपयोग नपुंसकता जैसे को दूर करने में किया जाता है

5. इसे स्मूदी में भी डाल कर पाया जाता है

6. इसके बीजों को सलाद के रूप में भी खाया जाता है

7. भांग के बीजों का दूध बनाकर भी सेवन करते हैं

8. आयुर्वेद में भांग के पत्तीयो, बीजों व तेल को औषधियों के रूप में इस्तेमाल किया जाता है

9. इसके बीच का स्वाद अच्छा होने के कारण इसे कच्चा भी खाया जा सकता है

10. भांग के बीजों को तलकर, भूनकर या पकाकर भी खाया जाता है

भांग के बीज के तेल के फायदे त्वचा के लिए

1. भांग के बीज का तेल त्वचा पर लगाने से त्वचा में नमी बनी रहती है

2. त्वचा में इसका तेल लगाने से मुंहासे ठीक होते हैं

3. त्वचा में जलन के स्थिति पर इसका तेल लगाने से जलन से राहत मिलती है

4. इसमें 6 फैटी एसिड होता है जिसके कारण इसका उपयोग करने से त्वचा में नई सेल पैदा होती हैं तथा यह त्वचा को स्वस्थ बनाए भी रखती है

5. इस तेल को नियमित रूप से इस्तेमाल करने पर बढ़ती उम्र के असर जल्दी नहीं दिखते हैं

भांग के बीज का तेल का उपयोग त्वचा पर कैसे करें

भांग के बीज का तेल त्वचा पर उपयोग करने के लिए सबसे पहले इस तेल को थोड़ी सी मात्रा में लेकर त्वचा पर लगाएं और कुछ देर रहने के बाद अगर त्वचा में जलन हो तो इसे तुरंत साफ कर दें और ना लगाएं

अगर इसे लगाने पर त्वचा पर जलन ना हो तो इस तेल को तो त्वचा पर लगाएं और मसाज करें कुछ देर रखने के बाद इसे साफ पानी से धो दें

भांग का तेल बनाने की विधि

भांग के बीजों से इसका तेल बनाने के लिए हम पाताल यंत्र का उपयोग करेंगे अगर आपको पाताल यंत्र के बारे में कुछ नहीं पता है तो आप इसे यूट्यूब पर “AK Ayurveda पाताल यंत्र” सर्च कर सकते हैं

तो आइए आप जानते हैं कि पाताल यंत्र के द्वारा भांग के बीजों के तेल बनाने की विधि

1. सबसे पहले भांग के बीज खरीद ले आए, खरीदने के लिए आप ऑनलाइन भी खरीद सकते हैं

2. बीज खरीद कर लाने के बाद से कितना आपको तेल निकालना है उतनी मात्रा में इन बीजों को लेकर एक छोटे मिट्टी के घड़े (कुलड) में भर दें

2. बीज को कुलड में भरने के बाद कुलड को ऊपर से छोटे-छोटे अनगिनत छिद्रों वाले बर्तन को से ढक दें

3. ढकने के बाद बड़े आकार के छिद्र वाले आधे हिस्से वाले घड़े में ढ़के हुए कुलड को उल्टा करके रख दे, इसे अच्छे से समझने के लिए सबसे पहले आप पाताल यंत्र को यूट्यूब मैं जरूर देख लें तभी आपको समझ में आएगा

4. कुलड उल्टा करके रखने के बाद, कुलड और आधे हिस्से वाले बड़े घड़े को मुल्तानी मिट्टी या कपड़े के सहायता से चारों तरफ अच्छे से पैक कर दें और मिट्टी को सूखने दें ताकि कुलड हिले ना

5. अब इसे अपने पाताल यंत्र पर रख दे और ऊपर से पतली तथा सूखी लकड़ी डालकर आग जला दें

6. ध्यान रहे कि पताल यंत्र के नीचे गड्ढे पर एक बर्तन रख दें ताकि सारा तेल कुलड पर ढ़के छिद्र वाले बर्तन से पताल यंत्र के नीचे रखें बर्तन पर गिरे

7. पताल यंत्र के ऊपर आग लगाने के 3 घंटे बाद जब यह आग बुझ जाए और ठंडी हो जाए

8. अब आपका भांग के बीजों से तेल बनकर उस बर्तन में निकल चुका है

9. अब पताल यंत्र के नीचे रखे बर्तन को अच्छे निकालें ताकि तेल गिरे ना

10. अब आपका भांग के बीज का तेल तैयार है आप इसका किसी भी तरह से इस्तेमाल कर सकते हैं

Note – इस लेख में बताए गए भांग के बीजों को किसी भी तरह से उपयोग करने से पहले एक बार भांग के पौधे के जानकार चिकित्सक से एक बार जरूर सलाह ले ले

भांग के बीज तथा तेल का नुकसान | side effects of Hemp seeds in Hindi

भांग एक नशीला पदार्थ है जिसके कारण इसका उपयोग काफी सावधानी पूर्वक करें, वरना इसे गलत तरीके या अधिक मात्रा में सेवन करने से निम्न नुकसान हो सकते हैं

1. इन बीजों को अत्यधिक मात्रा में कदापि ना खाये वरना मस्तिष्क संबंधी समस्या हो सकती है

2. इस बीज का सेवन से मितली या उल्टी भी हो सकती है

3. गले में जलन की समस्या भी हो सकती है

4. गर्भवती महिलाएं इसका सेवन व इस्तेमाल ना करें क्योंकि इससे गर्भपात भी हो सकता है

5. इन बीजों को अधिक मात्रा में सेवन करने से दस्त की समस्या भी हो सकती है

Read More

काले सेम की जनकारी

दोस्तों यह हमारे द्वारा दी गई Hemp seeds in Hindi की सामान्य जानकारी आपको कैसी लगी कर पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें और हमारे वेबसाइट को सब्सक्राइब जरूर कर लें धन्यवाद

Leave a Comment