Pansy Flower information in Hindi | पैन्सी फूल की पूरी जानकारी

Pansies flower यानी pansy flower जिसे हिंदी में पांसे या बनफूल कहते हैं Pansy flower in Hindi यह एक गुणकारी पौधा है जिसका इस्तेमाल कई तरह के दवा बनाने और बगिचो व घरों का शोभा बढ़ाने के लिए किया जाता है तो आइए आज इस लेख में हम बनफूल यानी पेंसी फूल के बारे में विस्तार से जानते हैं

पेंसी फूल के बारे में जानकारी | information about Pansy flower in Hindi

पेंसी यह एक सुगंधित फुल होता है जो दिखने में काफी सुंदर और आकर्षक लगता है इसके फूलों का आकार की बात करें तो यह सामान्यता 2 से 3 इंच तक होता है जिसमें 3 से 5 पंखुड़ियां लगी होती है और इन पंखुड़ियों का रंग आमतौर पर सफेद, नीला, पीला तथा बैंगनी होता है यह फूल बसंत के मौसम में सबसे शुरुआती दिनों में खिलने वाले फूलों में से एक है और यह फूल पश्चिमी एशिया और यूरोप में पाए जाने वाले एक प्रकार का जंगली फूल है जिसके कारण इसे बनफूल भी कहा जाता है पेंसी के इस फूल को सुख समृद्धि का प्रतीक भी माना जाता है जिसे लेकर आपके चाहने वाले या फिर जिसे आप चाहते हैं और सुख तथा खुश देखना चाहते हैं उसे इस फूल को उपहार के रूप में दे सकते हैं

पेंसी के पौधे की जानकारी

पेंसी एक प्रकार का हाइब्रिड पौधा है जो एक बड़ी जींस वायोला से संबंधित रखता है जिसमें लगभग 500 प्रजातियां पाई जाती है जिसकी लंबाई इनके प्रजातियों के अनुसार भिन्न होती है लेकिन सामान्यता इनके पौधे 8 से 10 इंच की लंबाई तक देखे जाते हैं जिसमें इसके पत्ते हल्के हरे रंग के मोटे, नोकेदार, अंडाकार अथवा दिल के आकार में होते हैं जो एशिया और यूरोप के बड़े बागों में पाए जाते हैं

पेंसी फूल का उपयोग | uses of pansy flower in Hindi

1. पेंसी के फूल का उपयोग ज्यादातर अपने बगीचों या घरों का शोभा बढ़ाने के लिए लगाया जाता ह

2. इसके पत्तियों से हर्बल चाय भी बनाई जाती है जो स्वस्थ के लिए काफी हेल्दी होता है

3. इसके फूलों को खाया भी जा सकता है

4. इसके अलावा पेंसी पत्तों को सूप बनाने में भी इस्तेमाल किया जाता है

5. इसका उपयोग कई तरह के व्यंजनों का सुगंध बढ़ाने या स्वादिष्ट बनाने के लिए इस्तेमाल भी किया जाता है

6. पेंसी के फूल को त्वचा के कई तरह घावो को जल्दी भरने व ठीक करने के लिए उपयोग किया जाता है

7. इसका उपयोग गले में खराश, काली खांसी और श्वसन से संबंधित जैसे रोगों को दूर करने लिए प्रयोग किया जाता है

8. इसका प्रयोग मिर्गी, एक्जिमा और अस्थमा जैसे कई चर्म रोगों को दूर करने के लिए भी किया जाता है

9. पेंसी के फूलों और पौधों का उपयोग और भी कई तरह के बीमारियों को दूर करने के लिए दवा बनाने में उपयोग किया जाता है

10. रोमांस को प्रेरित करने के लिए विलियम शेक्सपियर अपनी पुस्तक की रचना में इस पेंसी फूल का प्रयोग किये थे

पेंसी फूल का रोचक तथ्य | interesting facts of pansy flower in Hindi

1. इस फूल को यूरोप और एशिया के पश्चिमी बड़े बागों में पाए जाने वाला जंगली फूल है जिसके कारण इसे बनफूल भी कहते हैं

2. इस फूल में अन्य फूलों की तुलना में काफी कम रोग या किट लगते हैं

3. पेंसी के इस पौधे की औसतन आयु लगभग 2 साल तक का होता है

4. यह मुख्यतः सर्दियों में ही खिलते हैं

5. पेंसी फूल का साइंटिफिक नाम – Viola tricolor var. hortensis हैं

घर पर पेंसी / बनफूल का पौधा कैसे लगाएं

1. घर पर पेंसी का पौधा लगाने के लिए सबसे पहले पेंसी के बीज खरीद लाए, खरीदने के लिए आप ऑनलाइन भी इसे खरीद सकते हैं

2. एक गमला ले जो आकार में चौड़ा हो और उसके नीचे सतह पर छोटे-छोटे छिद्र कर दें ताकि पानी जमे ना और पौधे अच्छे से Grow हो पाए

3. अब एक अलग चौड़े बर्तन में 60% की मात्रा में सामान्य मिट्टी डालें और 20%, 20% की मात्रा में पुराने गोबर की खाद तथा वर्मीकंपोस्ट डालकर अच्छे से मिक्स कर लें करने के बाद इसे गमले में डाल दे

4. अब इस मिट्टी में पेंसी के सीड्स को लेकर कुछ इंच की दूरी-दूरी में गिराये और पतली परत में मिट्टी से ढक दें

5. मिट्टी में बीज को सड़ने से बचाने के लिए आप चाहे तो इस के दाने के साथ एंटीफंगल पाउडर को मिलाकर बीज गिरा सकते हैं

6. बीज लगाने के बाद उसमें स्प्रे कैन की मदद से हल्के पानी की छिड़काव कर दें और इस गमले को इनडायरेक्ट सनलाइट में ही रखें

7. जब मिट्टी कुछ दिनों के अंदर सूख जाए तो फिर हल्के मात्रा में पानी इसके ऊपर स्प्रे कर सकते हैं

8. अब 5 से 10 दिन के अंदर आपके बीज से पौधे निकलना शुरू हो जाएंगे

9. पौधे निकलने और कुछ इंच बड़े होने के बाद इसे अलग-अलग गमलों में लगा सकते हैं

10. अलग-अलग गमलों में पौधे लगाने के कुछ दिनों के बाद आपके गमलों में पेंसी के फूल दिखने लगेंगे

पेंसी के पौधे और फूल की देखभाल कैसे करें

1. जब भी आपके पौधे की मिट्टी सूख जाए तो सुबह-सुबह हल्के मात्रा में पानी की स्प्रे जरूर कर दें

2. पौधे के उगने के साथ कई खरपतवार भी उग जाते हैं जिससे समय-समय पर निकालते रहें

3. इन पौधों को बड़ा होने के बाद ही डायरेक्ट सनलाइट में रखें

Read More

मोगरे के फूल का जानकारी 

धन्यवाद दोस्तों हमें उम्मीद है हमारी Pansy flower in Hindi का यह पोस्ट आपको जरूर पसंद आई होगी अगर पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें

Leave a Comment